Tokyo Olympics: तोक्यो ओलंपिक की 100 दिन की उल्टी गिनती शुरू

Tokyo Olympics: India's sporting fraternity is hit badly with more elite athletes & coaches getting Covid-19 in Bengaluru, Delhi, Patiala
Tokyo Olympics: India's sporting fraternity is hit badly with more elite athletes & coaches getting Covid-19 in Bengaluru, Delhi, Patiala

Tokyo Olympics-तोक्यो को साढ़े सात साल पहले जब ओलंपिक खेलों की मेजबानी सौंपी गई थी तब उसने स्वयं को सुरक्षित स्थल के रूप में पेश किया था जबकि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के तत्कालीन उपाध्यक्ष क्रेग रीडी ने ब्यूनस आयर्स में 2013 में वोटिंग के बाद कहा था कि निश्चितता अहम मुद्दा होगी।

पिछले साल स्थगित किए गए तोक्यो ओलंपिक खेलों के आयोजन के लिए बुधवार को हालांकि जब 100 दिन की उल्टी गिनती शुरू हुई तो कुछ भी निश्चित नहीं है। कोविड-19 के बढ़ते मामलों, असंख्य घोटालों और जापान में खेलों के आयोजन को लेकर जनता के विरोध के बावजूद आयोजक और आईओसी खेलों के आयोजन पर जोर दे रहे हैं।

तोक्यो में 1964 में हुए ओलंपिक खेलों के जरिये जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध में हार से तेजी से उबरने का जश्न मनाया था लेकिन इस बार खेलों के आयोजन को लेकर कई अलग नियम और पाबंदियां होंगी। बेशक खिलाड़ियों का लक्ष्य पदक जीतना होगा लेकिन कुछ और लोग सिर्फ इतना चाहेंगे कि बिना किसी समस्या के खेलों का आयोजन हो, इन खेलों के जरिए कोविड-19 संक्रमण ना फैले और राष्ट्रीय गौरव बना रहे।

क्योटो की दोशिशा यूनिवर्सिटी में राजनीतिक विज्ञान पढ़ाने वाले डा. गिल स्टील ने ईमेल में लिखा, ‘‘यह सरकार काफी सचेत है कि पूरी दुनिया जापान को कैसे देखती है। ओलंपित को रद्द करने को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सार्वजनिक विफलता के रूप में देखा जा सकता है।’’

ओलंपिक 23 जुलाई से शुरू होंगे।

यह भी पढ़ें: तोक्यो ओलंपिक से पहले कोरोना महामारी से निपटने के उपाय कड़े करेगा जापान