IPL 2021: Punjab Kings ने तेज गेंदबाजी में कमजोरी को दूर किया लेकिन स्पिन विभाग कमजोर कड़ी

IPL 2021: Punjab Kings ने तेज गेंदबाजी में कमजोरी को दूर किया लेकिन स्पिन विभाग कमजोर कड़ी
IPL 2021: Punjab Kings ने तेज गेंदबाजी में कमजोरी को दूर किया लेकिन स्पिन विभाग कमजोर कड़ी

IPL 2021-Punjab Kings ने तेज गेंदबाजी में कमजोरी को दूर किया लेकिन स्पिन विभाग कमजोर कड़ी: नये नाम और एक मजबूत टीम के साथ पंजाब किंग्स इंडियन प्रीमियर लीग के आगामी सत्र में अपनी किस्मत बदलने की उम्मीद कर रहा है जिसके लिए उसने आखिरी ओवरों की गेंदबाजी की चिंता को दूर करने के साथ मध्यक्रम को मजबूत करने पर जोर दिया है।

पंजाब की यह टीम पिछले सत्र में तालिका में छठे स्थान पर थी लेकिन टीम लगातार पांच जीत दर्ज कर प्लेऑफ में पहुंचे के करीब पहुंच गयी थी।

पिछले सत्र टीम को पहले मैच में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ विवादित शॉर्ट रन का खामियाजा भुगतना पड़ा था। यह फैसला अगर उनके खिलाफ नहीं होता तो टीम शीर्ष चार में होती।

इस दौरान तेज गेंदबाजी विभाग में मोहम्मद शमी को दूसरे गेंदबाजों का साथ नहीं मिला और बड़े शॉट खेलने के लिए जाने जाने वाले ग्लेन मैक्सवेल का बल्ला भी नहीं चला था। फ्रेंचाइजी ने आगामी सत्र के लिए हालांकि इन चिंताओं को दूर करने की कोशिश की है।

यह भी पढ़ें- IPL 2021: IPL के लिए बड़ी खुशखबरी, दक्षिण अफ्रीका टीम के लिए बुरी खबर, Rabada, De Kock, Ngidi ने IPL 2021 के लिए टीम को छोड़ा
टीम मुंबई में 12 अप्रैल को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ अपने अभियान को शुरू करेगी।

टीम का सबसे मजबूत पक्ष उसकी बल्लेबाजी है। कप्तान लोकेश राहुल ने पिछले सत्र में सबसे अधिक रन बनाये थे और वह शानदार लय में है। उनकी और मयंक अग्रवाल की सलामी बल्लेबाजों की जोड़ी काफी भरोसेमंद है। ‘यूनिवर्सल बॉस’ क्रिस गेल को पिछले सत्र के शुरूआती मैचों में मौका नहीं मिला था लेकिन उन्होंने सात मैचों में 137.14 की स्ट्राइक रेट से 288 रन बनाये इस सत्र में उन्हें पहले मैच से मौका मिलने की उम्मीद है।

बड़े शॉट लगाने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज निकोलस पूरन चौथे क्रम पर बल्लेबाजी कर सकते है।

फ्रेंचाइजी ने टी20 अंतरराष्ट्रीय के शीर्ष रैंकिंग के खिलाड़ी डेविड मलान को टीम से जोड़ा है जिन्हें गेल और पूरन के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है।

मैक्सवेल की विदाई के बाद पंजाब किंग्स ने हरफनमौला मोइसेस हेनरिक्स और तमिलनाडु के बल्लेबाज शाहरुख खान को टीम में शामिल कर मध्यक्रम को मजबूत करने की कोशिश की है। अनुभवी दीपक हुड्डा के पास भी बड़े शॉट खेलने में क्षमता है। फेबियन एलन के रूप में पंजाब किंग्स के पास एक और विदेशी ऑलराउंडर का विकल्प है।

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज झाय रिचर्डसन और रिले मेरेडिथ के जुड़ने से टीम की तेज गेंदबाजी मजबूत हुई है। मेरेडिथ ने बिग बैश लीग में शानदार प्रदर्शन किया था। उनके आने से मोहम्मद शमी और इंग्लैंड के क्रिस जोर्डन से दबाव कम होगा।

अच्छे स्पिनरों की कमी हालांकि टीम को भारी पड़ सकती है। पंजाब किंग्स ने ऑफ स्पिनर के. गौतम में टीम से हटाने का फैसला किया जो खिलाड़ियों की पिछली नीलामी में सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी साबित हुए।

पिछले सत्र में प्रभावित करने वाले मुरुगन अश्विन और युवा रवि बिश्नोई से एक बार फिर अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। टीम से अनुभवी जलज सक्सेना भी जुड़े है। इस घरेलू दिग्गज खिलाड़ी ने सैयद मुश्ताक अली ट्राफी में 10 विकेट लिये थे और महज 6.26 की स्ट्राइरेट से रन खर्च किया था। टीम को हालांकि अंतरराष्ट्रीय स्तर के स्पिनर की कमी खलेगी।

पंजाब किंग्स ने अभी तक एक बार भी आईपीएल खिताब नहीं जीता है लेकिन कागजों पर टीम मजबूत नजर आ रही है। राहुल की कप्तान और कोच अनिल कुंबले की निगरानी में टीम पहली बार चैम्पियन बनना चाहेगी।

लीग के आगामी सत्र से राहुल को टी20 विश्व कप से पहले जरूरी मैच अभ्यास मिलेगा।

पिछले साल लीग में 20 विकेट लेने वाले शमी की कलाई ऑस्ट्रेलिया दौरे पर फ्रैक्चर हो गयी थी और वह चार महीने के बाद मैदान पर वापसी करेंगे। ऐसे में उनके फार्म पर नजर रहेगी। टीम को शमी के स्तर के भारतीय तेज गेंदबाज की भी कमी खलेगी।

पंजाब किंग्स की टीम इस प्रकार है:

लोकेश राहुल (कप्तान / विकेटकीपर), मयंक अग्रवाल, क्रिस गेल, मनदीप सिंह, प्रभसिमरन सिंह, निकोलस पूरन (विकेटकीपर), सरफराज खान, दीपक हुड्डा, मुरुगन अश्विन, रवि बिश्नोई, हरप्रीत बराड़, मोहम्मद शमी, अर्शदीप सिंह, इशान पोरेल, दर्शन नलकंडे, क्रिस जॉर्डन, डेविड मलान, झाय रिचर्डसन, शाहरुख खान, रिले मेरेडिथ, मोइसेस हेनरिक्स, जलज सक्सेना, उत्कर्ष सिंह, फेबियन एलन , सौरभ कुमार।

यह भी पढ़ें- IPL 2021: क्या सुरेश रैना एक हफ्ते की ट्रेनिंग में पा लेंगे उनका फॉर्म?