ICC क्रिकेट समिति का फैसला ‘अंपायर कॉल’ रहेगा बरकरार

ICC क्रिकेट समिति का फैसला 'अंपायर कॉल' रहेगा बरकरार
ICC क्रिकेट समिति का फैसला 'अंपायर कॉल' रहेगा बरकरार

ICC-Anil Kumble:भारतीय के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले की अगुवाई में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की क्रिकेट समिति ने गुरुवार  को ‘अंपायर कॉल’ वाली व्यवस्था बरकरार रखने का फैसला लिया है। इसके साथ ही क्रिकेट समिति ने बैठक के दौरान DRS और थर्ड अंपायर प्रोटोकॉल में तीन बदलावों को भी मंजूरी दे दी है। आईसीसी के मुताबकि एलबीडब्लू की  समीक्षा के दौरान स्टंप की ऊँचाई और चौड़ाई दोनों को ध्यान में रखा जाएगा। साथ ही थर्ड अंपायर किसी भी शॉर्ट रन के रीप्ले की जांच भी करेगा। साथ ही COVID-19 के नियमों को भी जारी रखने का फैसला लिया गया है। इसका मतलब होम अंपायरों की नियुक्ति, प्रति टीम प्रति पारी एक और डीआरएस लेने की सुविधा और गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर प्रतिबंध जारी रहेगा। साथ ही सिर पर चोट लगने या कोविड-19 की वजह से खिलाड़ी भी बदले जा सकेंगें।

यह भी पढ़ें- IPL 2021- MS Dhoni बने 150 करोड़ रुपए सैलेरी पाने वाले पहले आईपीएल खिलाड़ी

इस बारे में कुंबले ने कहा कि क्रिकेट समिति ने अंपायर कॉल के बारे में चर्चा की और इसके उपयोग का विश्लेषण किया। मैदान पर अंपायर के फैसले का महत्व कम ना करते हुए तकनीक के तत्व को भी ध्यान में रखा गया है इसलिए अंपायर की कॉल अनुमति महत्वपूर्ण है।

महिलाओं के ODI नियमों में भी दो बदलावों को मंजूरी दी गई है।  पहले 5 ओवर की बल्लेबाजी में पावरप्ले को हटा दिया गया है और टाई मैचों का फैसला सुपर ओवर द्वारा किया जाएगा। बर्मिंघम 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान महिलाओं के टी 20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों को भी रखा गया है. मेल जोन्स (क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया) और कैथरीन कैंपबेल (न्यूजीलैंड क्रिकेट) को आईसीसी महिला समिति में पूर्ण कालिक सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है।

यह भी पढ़ें- IPL 2021: दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों के आईपीएल में खेलने से टीम को लाभ मिलेगा : बाउचर