ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार पर हत्या का आरोप, दिल्ली पुलिस रेसलर को ढूंढने के लिए कर रही है छापेमारी

ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार पर हत्या का आरोप, दिल्ली पुलिस रेसलर को ढूंढने के लिए कर रही है छापेमारी
ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार पर हत्या का आरोप, दिल्ली पुलिस रेसलर को ढूंढने के लिए कर रही है छापेमारी

ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार पर हत्या का आरोप, दिल्ली पुलिस रेसलर को ढूंढने के लिए कर रही है छापेमारी:दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को कहा कि वह उत्तरी दिल्ली में छत्रसाल स्टेडियम परिसर के अंदर सागर राणा नामक पहलवान की मौत के कारण दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार और अन्य की तलाश में छापेमारी कर रही है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि दो व्यक्तिगत ओलंपिक पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय कुमार अभी तक जांच में शामिल नहीं हुए हैं। पुलिस ने कहा कि दिल्ली और पड़ोसी राज्यों में टीमें बनाई गई हैं और छापे मारे जा रहे हैं। एडिशनल डीसीपी (उत्तर-पश्चिम जिला) डॉ गुरिकबल सिंह सिद्धू ने कहा कि सुशील कुमार फरार है।

“सिद्धू ने कहा कि हमने पीड़ितों में से एक सोनू महल का बयान दर्ज किया है। जिन्होंने सुशील कुमार के खिलाफ आरोप लगाए थे। हम सुशील कुमार को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रहे हैं। जांच के दौरान हमने पाया है कि हमलावर बाहर से आए थे। ”

छत्रसाल स्टेडियम के अंदर अन्य पहलवानों द्वारा कथित रूप से क्रूरतापूर्वक हमला किए जाने के बाद 23 वर्षीय सागर राणा की मृत्यु हो गई और उनके दो दोस्त घायल हो गए। यह घटना मॉडल टाउन इलाके में स्थित एक संपत्ति से संबंधित विवाद को लेकर मंगलवार और बुधवार की रात को हुई।

हरियाणा के झज्जर के रहने वाले प्रिंस दलाल (24) को मामले के संबंध में गिरफ्तार किया गया है और उनके कब्जे से एक डबल बैरल बंदूक जब्त की गई है।
“हमने जांच के दौरान पाया है कि स्टेडियम की पार्किंग क्षेत्र में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस दलाल, सोनू, सागर, अमित और अन्य के बीच कथित तौर पर झगड़ा हुआ था।”

“पुलिस सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि दलाल को मौके से गिरफ्तार किया गया और हमने उसके कब्जे से 12 बोर के सात जिंदा कारतूस के साथ उसका सेलफोन, दो डबल बैरल बंदूकें जब्त कीं हैं। जांच के बाद हमने पाया है कि बंदूकों को हरियाणा के झज्जर के आशोदा गांव के निवासी के नाम से पंजीकृत किया गया था।

पुलिस जांच के अनुसार सुशील कुमार सागर राणा की हत्या में शामिल था। एफआईआर में सहायक उप-निरीक्षक जितेंद्र सिंह द्वारा दर्ज प्राथमिकी में कहा गया है कि प्रारंभिक जांच में यह सामने आया है कि … पहलवान सुशील और उनके सहयोगियों ने यह अपराध किया है।